Quantum Computing kya hai और कैसे काम करता है ? What is Quantum Computing ? -freemobileadvise.com


Quantum Computing 


What is Quantum Computing , Quantum Computers   परंपरागत कम्प्यूटर की सीमाओं के कारण होने वाली परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए Quantum computing  की आवश्यकता के बारे में सर्वप्रथम रिचर्ड फिनमैन नामक वैज्ञानिक ने 1981 में अपना तथ्य प्रस्तुत किया। वर्ष 1985 में डेविड डाउच के इसकी सैद्धांतिक संरचना का विकास किया। ऐसे कम्प्यूटर के सामने एक Second में 1000 खरब बार ऑन व ऑफ होने वाले परंपरागत कंम्प्यूटर भी सामान्य लगेंगे।



Quantum Computer kya hai और कैसे काम करता है?
www.freemobileadvise.com

इसी से इनकी Memory capacity का पता चल जाता है। जहां तक परंपरागत कम्प्यूटर का questions है तो ये 1 तथा 0 की सहायता से ही सारी Calculations निपटाते हैं, जबकि Quantum computer में ऐसा नहीं होता है। इनमें Quantum Mechanics का उपयोग होता है। इनमें समस्त Computational मार्ग एक अकेले हार्डवेयर में लिया जाता है, जो कि इनकी सबसे बड़ी विशेषता होती

इस मार्ग में Quantum Mechanics के अनुसार Superposition होता है, जिसके तहत अनावश्यक Part Positive व Negative होकर समाप्त हो जाते हैं तथा गणना के लिए सिर्फ आवश्यक अंक ही बच जाते हैं। लेकिन इस प्रक्रिया में कठिनाई यह है कि कई बार अनावश्यक व्यावधानों से गणना के लिए सिर्फ आवश्यक अंक ही बच जाते हैं। लेकिन इस प्रक्रिया में कठिनाई यह है कि कई बार अनावश्यक  activities से गणना सीधी दिशा में नहीं चलकर वापसी की ओर चलने लगती है।

अतः क्वांटम कम्प्यूटर में इसका ध्यान रखना आवश्यक है, क्योंकि यदि इसमें अनावश्यक अंश प्रभावी हो गए, तो फिर आवश्यक अंक की गणना में इसकी उपयोगिता ही समाप्त हो जाएगी। लेकिन परंपरागत कम्प्यूटरों में ऐसा नहीं होता है, क्योंकि इनमें 1 और 0 को ही प्रभावशाली बनाया जाता है। गणना में अनावश्यक अंश न आने पाए इसके लिए ऊर्जा स्तरों में स्पष्टता होनी चाहिए।

  1.  Deep Web or Dark Web Kya Hai Puri Jankari Hindi Me 
  2.  What is Computer Localhost in hindi-Full Guied 
  3.  Ethical Hacking क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में 

Quantum Computing हमारे भविष्य में है और यह चीजों को बड़े तरीके से करने के तरीके को बदल देगा। यह अभी तक पूरी तरह से समझ में नहीं आया है कि Quantum Computing वास्तव में हमें क्या बदलाव  ला सकती है, लेकिन वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर कुछ विचार हैं। एक बात निश्चित रूप से है, विशेषज्ञ Quantum Computing पर काम करने के लिए उत्साहित हैं और यह देखने के लिए कि अगली पीढ़ी में यह क्या कर सकता है?.

Quantum Computing क्या है?


Quantum Computing Regular Computing से अलग है जिसका उपयोग हम करते हैं क्योंकि यह परमाणुओं पर चलता है, न कि सिलिकॉन पर। परमाणु सबसे छोटी जानकारी को Store कर सकता है। Quantum Computers बनाने के दौरान लोगों की समस्या चल रही है कि इन परमाणुओं को कैसे रखा जाए। कोई भी छोटी Vibration इलेक्ट्रॉन के स्पिनऑफ को सेट कर सकती है जिससे यह काम  करना बन्द कर सकती  है।

Quantum कंप्यूटर एक और चीज कर सकते हैं एक साथ कई समस्याओं को हल कर सकता है, जहां Regular computer एक समय में केवल एक चीज को हल कर सकते हैं। Quantum Computers को हल करने वाली समस्याएं बेहद जटिल हैं, जो हमें भविष्य में उपयोग करने के लिए लाती हैं।

Uses Of Quantum Computer 


Military & Security:


Quantum Computers उस समय के एक अंश में डेटा की बड़ी मात्रा में जा सकते हैं जो नियमित कंप्यूटर कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, उपग्रह वीडियो और छवियां एकत्र करते हैं लेकिन उस डेटा को Store  नहीं किया जा सकता है। इनमें से अधिकतर डेटा फेंक दिया जाता है क्योंकि कंप्यूटर इसे संभाल नहीं सकते हैं या उन चीज़ों को नहीं पहचान सकते हैं जिन्हें उन्हें करना चाहिए।

Encryption एक और क्षेत्र Quantum कंप्यूटर बदल जाएगा। Encryption हर जगह है, जैसे हर बार जब हम क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं या एक ईमेल भेजते हैं। फिर भी, यह एक असफल तरीका नहीं है क्योंकि खाते अभी भी हैक हो जाते हैं और कंपनियां लाखों डॉलर खो देती हैं। Quantum कंप्यूटर Quantum Key delivery name एक अलग प्रकार के संचार का उपयोग करते हैं। यह बहुत अधिक Safe  है।

Automation and learning:


Quantum कंप्यूटर अनुभव से सीख सकते हैं, उनके पास कृत्रिम बुद्धि है। अगर वे गलती करते हैं तो वे इसे भी सही कर सकते हैं। इस विधि में वास्तव में Quantum कंप्यूटर Quantum कंप्यूटर में सुधार हो सकता है। यह कृत्रिम बुद्धि और यहां तक ​​कि humanoid रोबोट के बहुत उन्नत रूपों के लिए छोड़ सकता है। इस क्षेत्र में इतनी सारी अलग-अलग संभावनाएं हैं कि उन सभी को समझना मुश्किल है।


Weather forecast:


आज का मौसम पूर्वानुमान कंप्यूटर के दिए गए विभिन्न डेटा के आधार पर एक शिक्षित अनुमान है। एक पैटर्न ले सकते हैं कई अलग-अलग तरीके हैं, यही कारण है कि यह हमेशा सटीक नहीं है। Quantum Computing इन सभी डेटा का विश्लेषण एक बार में मौसम विज्ञानविदों को एक बेहतर विचार दे सकता है कि खराब मौसम कब और कब मारा जाएगा। इसका मतलब है तूफान और तूफान के लिए उन्नत चेतावनियां और अधिक समय व्यतीत करना।



Quantum Computer kya hai

Education: 


शिक्षा में इनका सबसे बड़ा हाथ है, अगर कोई स्टूडेंट को किसी चीज़ के बारे में जानकारी चाहिए तब उसे कुछ मिनटों में ही ये जानकारी उपलब्ध हो जाती है इसकी मदद से. Research से पता चला है की quantum कंप्यूटर की मदद से किसी भी student की learning performance में काफी बढ़ोत्तरी होगी.

Health and Medicine:


 ये Health और मेडिसिन के लिए एक वरदान है. इसकी मदद से मरीजों का इलाज बहुत ही आसानी से हो जायेगा. जिससे बड़ी आसानी से रोग के बारे में पता चल जायेगा है और उस हिसाब से उसका इलाज भी possible है.

Science:


ये तो Science की ही देन है. इससे research करने में बहुत ही आसानी होगी.

भविष्य में Quantum Computing बहुत बड़ी होगी, लेकिन यह हमारे जीवन को प्रभावित करने के सभी तरीकों से बताना मुश्किल हो सकता है। हम जानते हैं कि यह कृत्रिम बुद्धि, बेहतर सुरक्षा, और एक ही समय में बड़ी मात्रा में डेटा का विश्लेषण कर सकता है। यह देखना दिलचस्प होगा कि Quantum Computing की शक्ति का उपयोग कैसे किया जाएगा।

तो दोस्तों कैसी लगी यह post अगर आपको कुछ हटके जानने को मिला हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर share करे ताकि उन्ह भी यह जानकारी मिले.

Thank to all Readers

Post a Comment

1 Comments

  1. बहुत बढ़िया है प्ल्ज़ मेरे ब्लॉग के बारे मैं भी कुछ टिप्स दे दो... i need your help - https://www.reviewflix.in/

    ReplyDelete